Murgi Palan Ke Liye Loan । मुर्गी पालन के लिए लोन कैसे ले ?

मुर्गी पालन : अगर आप लोन चाहते हैं मुर्गी पालन के लिए तो आपको पता होना चाहिए कि किन-किन बैंकों से आपको मुर्गी पालन के लिए लोन मिलेगा। आपको इस आर्टिकल में मैं पहले बताऊंगा कि किन बैंकों से आपको मुर्गी पालन के लिए लोन मिल सकता है।

मुर्गी पालन लोन लेने के लिए बैंकों में अप्लाई कैसे किया जाता है, आपको स्टेप बाय स्टेप प्रोसेस के द्वारा बताया जाएगा आप ध्यान से आर्टिकल को पढ़िए।

मुर्गी पालन बिजनेस के लिए लोन कैसे मिलेगा क्या करना होगा इसके बारे में स्टेप बाय स्टेप प्रक्रिया के साथ समझाया जाएगा इसलिए चिंता करना आप बंद कर दीजिए की पोल्ट्री फॉर्म खोलने के लिए लोन कैसे मिलेगा हम आपको स्टेप बाय स्टेप बताएंगे देर मत कीजिए इस आर्टिकल को आखिर तक पढ़िए।

पोल्ट्री फार्मिंग बिजनेस हमारे देश में बहुत तेजी से विकसित हो रहा है यह एक तरह से फायदेमंद बिजनेस है, कम समय में ज्यादा फायदा पाने के लिए किस ज्यादातर पोल्ट्री फार्मिंग बिजनेस को अपने जा रहे हैं।

अगर आप यह बिजनेस करना चाहते हैं, और आपको इसके लिए पर्याप्त राशि नहीं है, तो इसके लिए आपको फिक्र करने की कोई आवश्यकता नहीं है, क्योंकि गवर्नमेंट बैंक के साथ-साथ ऑफ प्राइवेट बैंक भी आपके लिए पोल्ट्री फार्मिंग लोन देने के लिए तैयार हैं।

जिससे लोगों को व्यवसाय के अवसर मिलेंगे और इस बिजनेस के माध्यम से मांस और अंडे की मांग को पूरा करने में भी आसानी होगी किस एक दूसरे लोग भी अपने अतिरिक्त आमदनी के लिए इस स्कीम को स्टार्ट कर  कर रहे हैं।

मुर्गी पोल्ट्री फार्मिंग लोन क्या है, और किन बैंकों से मिलेगा?

यह एक व्यावसायिक लोन है, जो पब्लिक सेक्टर या प्राइवेट सेक्टर बैंक के जरिए पोल्ट्री फार्मिंग बिजनेस करने के लिए गांव और शहर दोनों क्षेत्रों के लोगों को दिया जाता है।

जाने मुर्गी पोल्ट्री फार्मिंग में कितना लोन और सब्सिडी मिलता है सरकार नाबार्ड के द्वारा पोल्ट्री फार्मिंग के लिए लोन और सब्सिडी मुहैया करती है।

मुर्गी पोल्ट्री फार्मिंग के लिए सरकार जनरल और ओबीसी कैटेगरी के लोगों को 25% तक सब्सिडी देती है, और अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति लोगों के लिए 35% तक सब्सिडी गवर्नमेंट देती है।

पशुपालन मछली पालन और हम भी सहाय और कई किसान अपने रोजी-रोटी के लिए आश्रित है ,इसलिए इस क्षेत्र में काफी विकास हुआ है, और राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय इस क्षेत्र में लोन देने के लिए काफी उत्सुक है।

मुर्गी पालन लोन योजना की शुरुआत भारत सरकार ने किया था। भारत सरकार राष्ट्रीय कृषि या विकास ग्रामीण बैंक एवं पोल्ट्री वेंचर कैपिटल फंड के द्वारा योजना का संचालन करती है।

मुर्गी पालन लोन के लिए आप सरकारी एवं प्राइवेट बैंकों से लोन ले सकते हैं, लेकिन लोन लेने का तरीका हर बैंक का थोड़ा-थोड़ा अलग होता है, साथ ही उसके टर्म कंडीशन भी अलग होता है, उसका प्रोसेस भी अलग होता है।

मुर्गी पालन लोन के लिए आप निम्नलिखित बैंकों से लोन ले सकते हैं-

एसबीआई बैंक

यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया

पंजाब नेशनल बैंक

इंडियन बैंक

सेंट्रल बैंक ऑफ़ इंडिया

बैंक ऑफ़ बरोदा

आइसीआइसीआइ बैंक

बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र

एक्सिस बैंक

इस 10 बैंकों से मुर्गी पालन लोन आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

भारत के कुछ प्राइवेट और पब्लिक सेक्टर बैंकों के नाम दे रहे हैं, जिनसे आप अलग-अलग योजना की अंतर्गत आसानी से मुर्गी पालन लोन ले सकते हैं।

1. एसबीआई पोल्ट्री फार्मिंग लोन क्या है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लिए वरदान सही है, यह योजना ग्रामीण क्षेत्र को कम ब्याज दारू पर जिन के रूप में वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए तैयार की गई है, इस योजना का उद्देश्य स्वरोजगार को बढ़ावा देना और गांव में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देना है।

कुरकुट उद्योग ग्रामीण आर्थिक व्यवस्था के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक है ऐसा इसलिए है, क्योंकि मुर्गी पालन कृषि के अन्य रूपों की तुलना में कई फायदे हैं, इन लबों में उच्च उत्पादन क्षमता कम उत्पादन लागत छोटी भूमि जट और त्वरित ऑल अराउंड समय सामिल है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत एसबीआई एक रन कार्यक्रम लेकर आया है, जिससे भारत में मुर्गी पोल्ट्री किसानों को लाभ होगा। यह रन कार्यक्रम कई प्रकार के लाभ प्रदान करता है, जिसमें कम ब्याज दरों तक पहुंचे रिया  और एसबीआई विशेषज्ञ से तकनीकी सहायता शामिल है।

इंटरेस्ट रेट 10 पॉइंट 75 से शुरू

लोन का प्रकार कृषि अवधि लोन लोन का अमाउंट 10 लख रुपए तक लोन चुकाने का समय 3 वर्ष से 5 वर्ष तक प्रोसेसिंग फीस 0.50%

एलिजिबिलिटी शायरी फार्मिंग के बारे में पर्याप्त एक्सपीरियंस और जानकारी होने के साथ पोल्ट्री फार्म स्थापित करने के लिए जमीन रखने वाले किसान इस लोन की योग्य है।

आवश्यक डॉक्यूमेंट वोटर आईडी कार्ड या आधार कार्ड या पैन कार्ड या पासवर्ड या ड्राइविंग लाइसेंस ईटीसी

एड्रेस प्रूफ के लिए वोटर आईडी का आधार कार्ड पासवर्ड ड्राइविंग लाइसेंस

2. पीएनबी पोल्ट्री फार्मिक लोन

पंजाब नेशनल बैंक पोल्ट्री फार्मिक लोन एक द्वितीय उत्पाद है, जो पंजाब में पोल्ट्री किसानों को उनके कृषि व्यवसाय के लिए ऋण प्रदान करने में मदद करता है।

यह कम ब्याज दारू और लचीली शर्तों की कोशिश करता है, ताकि किसान अपने पॉजिटिव फार्मिक व्यावसायिक के लिए सर्वोत्तम संभव परिस्थितियों का लाभ उठा सके व्यक्तिगत किस की जरूरत के आधार पर ऋण कई अलग-अलग तरीके से लिया जा सकता है।

पंजाब नेशनल बैंक का पोल्ट्री फार्म लोन का इंटरेस्ट रेट एप्लीकेंट के प्रोफाइल और व्यावसायिक जरूरत को आश्रित करता है।

पंजाब नेशनल बैंक लोन का प्रकार कृषि अवधि लोन लोन का अमाउंट पोल्ट्री यूनिट के प्रकार और आकर के अनुसार लोन चुकाने का समय कम से कम 8 या 12 वर्ष महीने ज्यादा से ज्यादा 7 साल प्रोसेसिंग 0. 50 परसेंट यूनिट कम से कम 500 मुर्गियों का एलिजिबिलिटी संबंधित व्यक्ति को व्यावसायिक तौर पर पोल्ट्री यूनिट चलाना होगा पोल्ट्री फार्म बनाने के लिए जमीन होना चाहिए।

आवश्यक डॉक्यूमेंट वोटर आईडी कार्ड आधार कार्ड पैन कार्ड पासपोर्ट ड्राइविंग लाइसेंस ईटीसी

पीएनबी में लोन के लिए अप्लाई कैसे करें?

पीएनबी के नजदीकी ब्रांच से अप्लाई फॉर्म के लिए संपर्क करें एक बेहतर यह तरीका है कि आप इसे ऑनलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं, आपको इसके लिए कुछ आसान चरणों का पालन करना होगा।

3. एचडीएफसी पोल्ट्री फार्मिंग लोन

एचडीएफसी पोल्ट्री फार्मिक लोन पोल्ट्री फार्मिंग लोन में किसानों की मदद करने के लिए बैंक द्वारा दी जाने वाली एक वित्तीय सहायता है।

लोन 3 से 5 साल की अवधि के लिए लिया जा सकता है, और इसका उपयोग पोल्ट्री हाउस खरीदने या बनाने शायरी फीड प्राप्त करने कृषि भूमि में सुधार करने या प्रजनन पक्षियों को खरीदने के लिए किया जा सकता है।

लोन दो प्रकारों में उपलब्ध है, मानक आर इन और कृषि ऋण मानक रन दो राशियों में उपलब्ध है। एक लाख रुपये और ₹200000 जबकि कृषि ऋण तीन राशियों में उपलब्ध है, ₹300000 और 5 करोड रुपए दोनों दोनों पर ब्याज दर 12% है।

एचडीएफसी बैंक किसानों को नगदी फसल वृक्षारोपण मुर्गी पालन पशुपालन देरी बीज भंडारण इत्यादि के लिए फाइनेंशियल हेल्प करती है, एचडीएफसी बैंक किसानों और खेतिहर मजदूरों के लिए छोटे मुर्गी यानी ब्रायलर फार्मिंग लोन चलाने के लिए देती है।

मुर्गी पोल्ट्री फार्म खोलने के लिए बैंक ऑफ़ इंडिया से लोन

बैंक ऑफ़ इंडिया एक नई पोल्ट्री योजना लेकर आया है। बैंक ने इस पोल्ट्री ऋण योजना शुरू की है, जिसके तहत उधर करता ए बिहारी निर्माण पक्षी पालन प्रजनन और मुर्गी पालन की खरीद के लिए ऋण प्रदान करता है, कर्ज की रकम एक लाख से 5 करोड रुपए है। ब्याज दर 10% तक की गई है, ग्रीन की अवधि 3 वर्ष है न्यूनतम आवश्यक निवेश 50000 रुपए और अधिकतम 2 करोड रुपए हैं।

लोन का प्रकार शेयर या ब्रायलर मुर्गी पालन लोन राशि पोल्ट्री फार्मिंग के ऊपर निर्भर एक लाख रुपये लोन के लिए लागू कम से कम 500 मुर्गियां रखना जरूरी होगा

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top